Skip to main content

मेरे हालात अब (Mere Halaat Ab)


मेरे हालात अब ठीक नहीं है २ 
कुछ न रहता तो तसल्ली रहती ;
जबसे कुछ है,कि 
कुछ ठीक नहीं है 
मेरे हालात अब ठीक नहीं है। 

mere halaat ab thik nahin hai kuchh na rehta to tasalli rehti



MERE HALAAT AB THIK NAHIN HAI 2
KUCHH NA REHTA , TO TASALLI REHTI ;
JABSE KUCHH  HAI KI KUCHH THIK NAHIN HAI
MERE HALAAT AB THIK NAHIN HAI . 

नए- पोस्ट

सवरता भी नहीं बिखरता भी नहीं - Sawarta Bhi Nahin Bikharta Bhi Nahin

क्या खूब है रिश्ते भी उनसे
सवरता भी नहीं , बिखरता भी नहीं ;
वो गैर होते  तो ,उम्मीद न होती ;
तकलीफ है वो अपना भी नहीं ।
Kya Khoob Hain Rishte Bhi Unse Sawarta Bhi Nahin Bikharta Bhi Nahin Wo Gair Hote To Ummid Na Hoti Taklif Hai Wo Apna Bhi Nahin


इश्क कर लीजिये किताबों से - Ishque Kar Lijiye Kitaabon Se

इश्क कर लीजिये किताबों से जनाब ,
एक यही है जो अपने बातों से पलटती नहीं ।

Ishque kar lijiye Kitaabon se janaab,
Ek yahi hai jo apne baaton se palatati nahin.