Skip to main content

मेरे हालात अब (Mere Halaat Ab)


मेरे हालात अब ठीक नहीं है २ 
कुछ न रहता तो तसल्ली रहती ;
जबसे कुछ है,कि 
कुछ ठीक नहीं है 
मेरे हालात अब ठीक नहीं है। 

mere halaat ab thik nahin hai kuchh na rehta to tasalli rehti



MERE HALAAT AB THIK NAHIN HAI 2
KUCHH NA REHTA , TO TASALLI REHTI ;
JABSE KUCHH  HAI KI KUCHH THIK NAHIN HAI
MERE HALAAT AB THIK NAHIN HAI . 

नए- पोस्ट

मुकम्मल जंहा

अश्को को आँखों में पनाह नही मिलता ।
यँहा किसी को मुकम्मल जंहा नही मिलता ।।

          ( कलम का सिपाही )
                सुनील सागर

Wo Rooth Jata To - वो रूठ जाता तो

वो रूठ जाता तो मना लेते हम ,
मेरे बस का नहीं था ;
उसकी खामोशी समझना ।
Wo Ruth Jata To Mana Lete Ham  Mere Bas Ka Nahin Tha  Uski Khamoshi Samajhna.